भूलेख उत्तराखंड: खसरा खतौनी ऑनलाइन, भू अभिलेख | UK Devboomi Portal

Bhulekh Uttarakhand Online Check | भूलेख उत्तराखंड ऑनलाइन पोर्टल | भूलेख उत्तराखंड खसरा खतौनी | देवभूमि उत्तराखंड भू अभिलेख |
यहाँ इस लेख में, नागरिक उत्तराखंड भूमि जानकारी से संबंधित आवश्यक जानकारी प्राप्त सकते हैं। यहां पाठकों को इस बारे में जानकारी प्राप्त होने वाली है कि भूमि के रिकॉर्ड क्या हैं, वे क्यों महत्वपूर्ण हैं, कैसे वे Devboomi पोर्टल पर अपने ऑनलाइन जमीनी रिकॉर्ड की जांच कर सकते हैं । और इसका महत्व और क्या है। इस प्रकार से सरकार द्वारा उत्तराखंड भूमि जानकारी को ऑनलाइन करने की प्रक्रिया को तेज़ी से लागू किया है। उत्तराखंड राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के निर्मित देवभूमि पोर्टल द्वारा अब खसरा खतौनी नकल ROR, भू नक्शा, जमीनी रिकॉर्ड ऑनलाइन जानकारी ले सकते हैं। इसका फायदा ये भी हुआ है की अब अपने राज्य में न रहके भी भूमि से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी देख सकते हैं।

Contents

भूलेख उत्तराखंड देवभूमि

भूलेख ऑनलाइन पोर्टल, राज्य के नागरिकों के लिए  एक ऑनलाइन मंच है जिससे वो उत्तराखंड के खसराखतौनी,भू नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल किसी भी स्थान पर इंटरनेट का उपयोग करके ऑनलाइन सत्यापन कर सकते हैं। उत्तराखंड के अधिकांश नागरिक इस जानकारी से अवगत नहीं हो सकते हैं, कि वे संबंधित कार्यालयों का दौरा किए बिना इस पोर्टल के माध्यम से भूमि विवरण ऑनलाइन चेक कर सकते हैं। जैसा की आप जानते ही हो की जमीन का बंटवारा करने के लिए भूलेख ,यानी की जमीन का कागजात बहुत काम आता है| भूलेख का संक्षिप्त में विवरण देखें :-

विषयभूलेख उत्तराखंड
लेख का प्रकारभू-अभिलेख, भूलेख उत्तराखंड जांच कैसे करें?
राज्यउत्तराखंड
भूमि रिकॉर्ड पोर्टल का नामदेव भूमि
विभागराजस्व विभाग, उत्तराखंड सरकार।
भूलेख उत्तराखंड वेबसाइट देवभूमिhttp://devbhoomi.uk.gov.in/
भूलेख उत्तराखंड पोर्टलhttp://bhulekh.uk.gov.in/Bhulekh/

भूलेख उत्तराखंड ऑनलाइन पोर्टल के लाभ

इस ऑनलाइन पोर्टल से अब लोग अपनी ज़मीन से जुड़ी सभी जानकारी को आसानी से देख सकते हैं। और साथ ही सरकार की चलाई जाने वाली योजनाओं में आसानी आवेदन कर सकते हैं। जो लोग अभी नौकरी या अन्य काम के लिए घर नहीं जा पा रहे वो भी अपनी ज़मीन का पूरा रिकॉर्ड ऑनलाइन देख सकते हैं। इससे समय की काफी बचत हुई है।

  • उत्तराखंड राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग द्वारा इस सुविधा से अब आप कहीं से भी ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड चेक कर सकते हैं।
  • अपने खेत पंचायत का नक्शा भी अब ऑनलाइन देखा जा सकता है, जैसे की आप जानते ही हैं, की भू नक्शा जमीन का नक्शा होता है। अतः किसान अब अपने खेत का नक्शा इस ऑनलाइन सुविधा से प्राप्त कर सकता है।
  • अब यदि खाता संख्या पता हो तो जमीन का प्रकार, खातेदार का विवरण भी ऑनलाइन पोर्टल से प्राप्त किया जा सकता है।
  • जमीन के कागजात के द्वारा आप आसानी से किसी भी बैंक से से लोन ले सकते हैं और फसल बीमा ले सकते हैं।
  • अब इसमें स्वामित्व स्टेटस और सूची भी ऑनलाइन वेब पोर्टल के माध्यम से देखा जा सकता है।
  • आप अब खतौनी की नकल उत्तराखंड पोर्टल द्वारा ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

Bhulekh Uttarakhand 2021 District-Wise List

आप नीचे जिलों की सूची देख सकते हैं, जहाँ सरकार ने उत्तराखंड भूमि की सम्पूर्ण जानकारी को डिजिटल कर दिया है।

BageshwarAlmora
ChampawatDehradun
ChamoliHaridwar
Pauri GarhwalNainital
PithoragarhRudraprayag
Tehri GarhwalUttarkashi
Udham Singh Nagar

भूलेख उत्तराखंड का उद्देश्य

उत्तराखंड राज्य में उत्तराखंड खाता खतौनी खैरी खुर्द के कम्प्यूटरीकरण और डिजिटलीकरण ने नागरिकों को बहुत मदद की है। इससे पहले भूमि की जाँच एक बहुत समय लेने वाली प्रक्रिया थी, जिसे राजस्व विभाग के लोगों की संख्या द्वारा मैन्युअल रूप से बनाए रखा गया था।

अभिलेखों / फाइलों के ढेर से किसी व्यक्ति के विशेष  भूमि जानकारी विवरण, खाता खतौनी को खोजना आसान नहीं था। लोगों को अपना पूरा दिन तहसील या संबंधित कार्यालय में बर्बाद करना पड़ता है, और उसके बाद भी यह पुष्टि नहीं की गई कि उन्हें वांछित जानकारी मिली है।

लेकिन जमीनी रिकॉर्ड ऑनलाइन के डिजिटलीकरण के बाद, परिदृश्य पूरी तरह से बदल दिया गया है। नागरिकों को एक भी खसरा नंबर या कोई अन्य विवरण प्राप्त करने के लिए राजस्व कार्यालय या तहसील का दौरा करने की आवश्यकता नहीं है।

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल राज्य के सभी नागरिकों को रिकॉर्ड ऑनलाइन जांचने के लिए एक साझा मंच प्रदान करता है। इसके लोगों को कई फायदे हैं और कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं-

  •  इस पोर्टल पर नागरिक खातेदार के नाम द्वारा, खसरा नंबर, खाता संख्या का उपयोग करके अपने भूमि रिकॉर्ड की जांच कर सकते हैं।
  • यह पारदर्शी भूमि के रिकॉर्ड प्रबंधन प्रणाली को सुविधाजनक बनाता है और भूमि जानकारी / खातेदार का विवरण से संबंधित अपराधों जैसे अवैध संपत्ति, धोखाधड़ी आदि को कम करता है।
  • इसने मैनुअल काम को कम कर दिया है।
  • यह सरकार और नागरिकों दोनों का समय बचाता है।
  • नागरिक किसी भी समय और इंटरनेट पर किसी भी स्थान से अपने भूमि के रिकॉर्ड के अपडेट की जांच कर सकते हैं।
  • देवभूमि पोर्टल से अब लोग अपनी भूमि का पूरा विवरण प्राप्त करके अपनी भूमि पर मालिकाना हक़ जमा सकते है।
  • इस ऑनलाइन सुविधा से जमीन रजिस्टर, पकी भूमि की सारा विवरण, खसरे की सारी जानकारी ऑनलाइन या भूमि का ब्यौरा या खसरा खतौनी पोर्टल से प्राप्त कर सकते हैं।

भूलेख उत्तराखंड : खसरा खतौनी ऑनलाइन कैसे निकालें?

खसरा खतौनी नकल, जमाबंदी ऑनलाइन देखने की प्रक्रिया Bhumi Jankari Uttarakhand: UK Bhulekh एक ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म है जिसका उपयोग भूमि रिकॉर्ड प्राप्त करने के लिए किया जाता है। लेकिन अभी भी कुछ लोग हैं जो पोर्टल का उपयोग करके भूमि रिकॉर्ड से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने में कठिनाई पाते हैं। हालाँकि, ऑनलाइन पोर्टल में उपयोगकर्ता इंटरफ़ेस बहुत आसान है, लेकिन कंप्यूटर ज्ञान की कमी के कारण, वे इसे एक मुश्किल काम समझते हैं। उन्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह हिंदी और अंग्रेजी दोनों में उपलब्ध है और लोग अपनी सुविधा के अनुसार सेवा का लाभ उठा सकते हैं।

  • आधिकारिक पोर्टल पर जाएं

नागरिकों को भूमि रिकॉर्ड की आधिकारिक वेबसाइट यानी https://landuse.uk.gov.in/ को शुरू करना होगा या वे सीधे भुलेख पोर्टल (http://bhulekh.uk.gov.in/) खोल सकते हैं।

  • भुलेख लिंक का चयन करें

मुख्या पृष्ठ पर, “Bhulekh-Land Records” लिंक पर क्लिक करें।

  • संबंधित लिंक पर क्लिक करें

भूलेख पोर्टल दिखाई देगा। इस पृष्ठ पर, पृष्ठ के शीर्ष दाईं ओर दिए गए “Public ROR” टैब पर क्लिक करें।

UK Bhulekh 2021
  • जिले का चयन करें

इस पृष्ठ पर, उम्मीदवारों को उपलब्ध विकल्पों में से अपने जिले का चयन करना होगा।

भूलेख उत्तराखंड ऑनलाइन पोर्टल
  • तहसील का चयन करें

जिले का चयन करने के बाद, उन्हें संबंधित तहसील का चयन करना होगा।

  • गांव का चयन करें

अब, उन्हें संबंधित गांव का चयन करना होगा।

  • खोज विकल्प चुनें

अब, आगे बढ़ने के लिए निम्नलिखित खोज विकल्पों में से चुनें-
– खसरा / गाटा संख्या द्वारा खोज
– खाता संख्या द्वारा खोज।
– म्युटेशन तिथि द्वारा खोज
– विक्रेता द्वारा खोजें
– खरीदार द्वारा खोज
– अकाउंट होल्डर के नाम से सर्च करें
खोज विकल्प चुनने के बाद, संबंधित विवरण दर्ज करें और आगे बढ़ें।

  • ROR विवरण प्रदर्शित करते हैं

अंत में, ROR विवरण स्क्रीन पर दिखाई देगा। नागरिकों को ध्यान देना चाहिए, कि आरओआर की ऑनलाइन कॉपी अधिकृत नहीं होगी, और प्रमाणित प्रति होगी और केवल अवलोकन उद्देश्य के लिए होगी।

उत्तराखंड खाता विवरण (अप्रमाणित प्रति)

लोग केवल ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अपने जमीन का प्रकार, खातेदार का विवरण, भूमि रिकॉर्ड विवरण जैसे ROR , खसरा नंबर, आदि की जांच कर सकते हैं। ऑनलाइन पोर्टल पर भूमि रिकॉर्ड या ROR केवल देखने के उद्देश्य से है। वे डाउनलोड तो कर सकते हैं परन्तु यह भूमि रिकॉर्ड की अधिकृत प्रति नहीं है।

ROR की प्रमाणित प्रति प्राप्त करने के लिए नागरिकों को संबंधित गांव की तहसील के तहसील भूमि रिकॉर्ड कंप्यूटर सेंटर का दौरा करना पड़ता है।

ROR कॉपी प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को सरकार द्वारा निर्धारित कुछ शुल्क भी अदा करने होते हैं। फीस निम्नलिखित हैं-

RoR के पहले पेज के लिए Rs.15 / –
RoR के बाद के पृष्ठों पर रु .5 / –

 

खाता विवरण (अप्रमाणित प्रति)

 

ग्राम का नाम : Village Name
परगना : Pargana Name
तहसील : Tehsil Name
जनपद : District Name
फसली वर्ष : Fasli Year
भाग : 1
खाता संख्या : 00000
खातेदार का नाम / पिता पति संरक्षक का नाम / निवास स्थान / आधार संख्याभूखण्ड/गाटा संख्या (गाटा कोड)भूखण्ड/गाटे का क्षेत्रफल (हे.)खातेदार के अंश का क्षे०(हे.)आदेशटिप्पणी
श्रेणी : /
 
योग00.00000.0000

भूलेख उत्तराखंड : महत्वपूर्ण लिंक

भूलेख का सही अर्थ है भूमि से संबंधित लिखित रूप में जानकारी | देवभूमि पोर्टल की मदद से, नागरिक अपना रिकॉर्ड ऑफ राइट (ROR) मालिक के नाम, खाता संख्या, म्यूटेशन, वेंडर आदि द्वारा देख सकते हैं।

भुलेख का शाब्दिक अर्थ “भूमि के विवरण का रिकॉर्ड या खाता रखना” है। एक भूमि रिकॉर्ड या भूलेख में भूमि के बारे में सभी महत्वपूर्ण विवरण जैसे कि भूमि का विनिर्देश, उसका क्षेत्र, और भूमि के मालिक के बारे में जानकारी, बिक्री, म्यूटेशन और अन्य संबंधित जानकारी के बारे में विस्तार से विवरण होता हैं ।

भारत में भूमि अभिलेखों के कम्प्यूटरीकरण से पहले, भूमि धारण और संपत्तियों से संबंधित सभी विवरणों की जानकारी को साधारण रूप से दस्तावेजों में रखा जाता था। इस प्रक्रिया से संबंधित सरकारी निकायों/ अधिकारी और नागरिकों दोनों के लिए एक व्यस्त और समय लेने वाला कार्य था।  भूमि से संबंधित सभी कार्यों के लिए नागरिक सरकारी कार्यालयों का दौरा करने के लिए बाध्य थे।यहाँ तक कि अपनी जमीन का खाता संख्या के लिए उन्हें तहसीलदार कार्यालय जनता पड़ता था जो की उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में जाना एक कठिन कार्य है। हालांकि, खसराखतौनी,भू नक्शा/भू अभिलेख, जमाबंदी नकल भूमि रिकॉर्ड के कम्प्यूटरीकरण के साथ यह एक आसान और सरल कार्य बन गया है।

उपयोगकर्ता का पंजीकरण (New User Registration)Apply Here
आवेदन की स्थिति (Application Status)Check Here
अधिकारों का रिकॉर्ड (UK Bhulekh ROR)Check Here
डाटा रूपांतरण एवं अपलोड (Data Conversion and Upload)Add Here
देव-भूमिCheck Here
लाइव तहसील StatusCheck Here
राजस्व परिषद रिपोर्ट यूजर लागिन (Revenue Admin Login)Click Here
जनपद स्तर यूजर लागिन (District Admin Login)Click Here
तहसील प्रबन्धनकर्ता लागिन (Tehsil Admin Login)Click Here
तहसील म्यूटेशन यूजर लागिनClick Here
Tehsil Report user loginClick Here
ग्राम मेपिंग लागिन (Village Mapping Login)Click Here

उत्तराखंड सरकार राजस्व विभाग ने राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) की मदद से राज्य के नागरिकों को भूमि रिकॉर्ड विवरण यानी खतौनी / ROR ऑनलाइन प्रदान करने के लिए ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया है। सारे भारत में सभी भूमि अभिलेखों का डिजिटलीकरण राष्ट्रीय भूमि रिकॉर्ड आधुनिकीकरण कार्यक्रम (NLRMP) नामक राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत शुरू किया गया था।

Bhulekh Uttarakhand Land records (Katauni/ ROR) Importance

भूमि एक व्यक्ति या समूह की मूल्यवान संपत्ति है और इसलिए इसका उचित रिकॉर्ड बनाए रखना महत्वपूर्ण है। भूमि अभिलेख वे दस्तावेज होते हैं जो जमीन के रिकॉर्ड, उसके म्युटेशन , बिक्री और उससे संबंधित अन्य विवरणों को रखते हैं।

भूमि के अभिलेखों में महत्वपूर्ण भूमि विवरण जैसे खसरा, खसरा नं, खतौनी, जमाबंदी, फर्द, जमाबंदी नक़ल आदि शामिल हैं। ROR जमीन से संभंधित सभी विवरण बताता है। नीचे हमने कुछ बिंदुओं को साझा किया है जो भूमि अभिलेख / ROR के महत्व को बताता है-

  • खतौनी की मदद से, कोई भी भूमि के शीर्षक और भूमि के स्वामित्व को सत्यापित कर सकता है।
  •  बैंक खाता खोल सकते हैं।
  • लोग भूमि रिकॉर्ड की मदद से संपत्ति के खिलाफ ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • भूमि के विभाजन या बिक्री के लिए।
  • यह भूमि के अधिग्रहण का तरीका बताता है
  • कोई अपनी संपत्ति का निजी रिकॉर्ड रख सकता है
  • सिविल मुकदमेबाजी के मामले में या किसी अन्य कानूनी उद्देश्य के लिए अदालत में पेश करने की आवश्यकता
  • हो सकती है।
  • यह भूमि पर सरकार / सार्वजनिक अधिकार की जाँच करने में मदद करता है|

स्वामित्व डाटा एंट्री विवरण कैसे देखें?

  • सबसे पहले आपको Bhulekh Uttarakhand पोर्टल पे जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट में जाते ही उसका होम पेज खुल जायेगा।
  • होम पेज में सबसे नीचे स्वामित्व डाटा एंट्री विवरण का लिंक दिखेगा।
  • इस लिंक पर क्लिक करें और स्वामित्व डाटा एंट्री विवरण ऑनलाइन प्राप्त करें।

भूलेख उत्तराखंड पोर्टल में लॉगिन कैसे करें?

Bhulekh Uttarakhand ऑनलाइन पोर्टल डाटा रूपांतरण एवं अपलोड कैसे करें?

  • सबसे पहले आप भूलेख उत्तराखंड ,भू नक्शा की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ।
  • तत्पश्चात आपके सामने भूलेख उत्तराखंड पोर्टल का मुख्या पृष्ठ खुल जायेगा।
  • मुख्या पृष्ठ में आपको कन्वर्जन एंड अपलोड का विकल्प दिखेगा, इसपे क्लिक करें।
  • अब क्लिक करते ही एक नैया पेज खुलेगा जिसमे आपको अपना यूजरनेम, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अंत में लॉगिन के बटन पर क्लिक करें और इस प्रकार से आप कोई भी डाटा का रूपांतरण एवं डाटा अपलोड कर सकते हैं।

उत्तराखंड सरकार ने खाता विवरण (अप्रमाणित प्रति) उत्तराखंड और भूमि का रिकॉर्ड ऑनलाइन देखना या ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड चेक व जांच करने के लिए देवभूमि पोर्टल का निर्माण किया है, कुछ लोग devbhoomi app के द्वारा ये सारी जानकारियां अपने फ़ोन पे देखन चाहते हैं। पर वास्तव में सरकार द्वारा भूलेख उत्तराखंड की कोई एप्प नहीं बनाई है। अतः आपसे निवेदन है की आप आधिकारिक वेबसाइट से ही जमीन की जानकारी देखें। इस प्रकार से आप जमीन का नक्शा Uttarakhand या ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड चेक को देवभूमि पोर्टल के माध्यम से आसानी से देख सकते हैं।

CONTACT DETAILS​ for Lan record Uttarakhand?

  • Revenue Department
    • Address: Secretariat, Subhash Road, Dehradun
  • Chairman Board of Revenue
    • Address: Mussoorie bypass road, Ring Road Laadpur
    • State: Uttarakhand (Dehradun)
    • Phone number: 2669221(STD code- 0135)

इस प्रकार से सरकार द्वारा इस वेब आधारित वेबसाइट की मद्दद से अब आम नागरिक खाते की नकल, जमीन का ब्यौरा, ऑनलाइन भूमि की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इस सेवा से राज्य के करोड़ों लोगों को फायदा मिला है। यदि आपको उत्तराखंड भूमि जानकारी या खाते की नकल, निकलने में कोई परेशानी हो रही हो तो कृपया कमेंट बॉक्स में लिख दें। अन्य समस्यों के लिए आप राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग से संपर्क कर सकते हैं , या अपने नजदीकी तहसील ऑफिस में जाकर अपनी शंका का संधान कर सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

उत्तरांचल में भू अभिलेख की जानकारी कैसे प्राप्त करें?

अब राजस्व विभाग द्वारा भू-अभिलेख डाटा को देवभूमि पोर्टल में ऑनलाइन कर दिया गया है। इससे आप खसरा विवरण, अपनी भूमि का सारा ब्योरा व भू-अभिलेख के मालिक की जानकारी ऑनलाइन ले सकते हैं।

खसरे की सारी जानकारी ऑनलाइन कैसे देख सकते हैं ?

खसरा नंबर से जमीन का नक्शा व अपनी भूमि का सारा ब्योरा भूलेख पोर्टल से लिया जा सकता है।

भूलेख उत्तराखंड क्या है इसके क्या फायदे हैं?

भूलेख का सही अर्थ है भूमि से संबंधित लिखित रूप में जानकारी | उत्तराखंड के लोग इससे जमीन के कागजात के द्वारा आप आसानी से किसी भी बैंक से से लोन ले सकते हैं और फसल बीमा ले सकते हैं।

भूमि रिकॉर्ड से सम्बंधित जानकारी ऑनलाइन के लिए क्या जरूरी है?

जमीन के रिकार्ड से जुड़े जानकारी ऑनलाइन निकलने के लिए आपके पास खसरा संख्या या जमीन के मालिक का नाम होना जरूरी है। ऑनलाइन जमीन रजिस्टर से आप खसरा खतौनी नाम अनुसार ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

1 thought on “भूलेख उत्तराखंड: खसरा खतौनी ऑनलाइन, भू अभिलेख | UK Devboomi Portal”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top